Saturday, November 05, 2005

जो चाहो, सुधार कर पढ़ लो

सिफी के हिंदी संस्करण पर खबर जा रही है- विदेशमंत्री नटवर सिंह ने अपने पद से त्यागपत्र दिया। न जाने कहां से यह खबर उड़ा लाए हैं जिसका पता अभी खुद नटवर सिंह को भी नहीं। सिफी ने तीन नवंबर को ही यह खबर छाप दी थी। आज दो दिन बीत गए हैं लेकिन खबर वहीं की वहीं है। इन्तहा तो तब हो गई कि जब नटवर सिंह के इस्तीफा न देने की खबर भी उसी पेज पर डाल दी गई। दोनों में से कोई न कोई तो सच है ही। यानी, इंटरनेट सर्फर अपनी सुविधा के हिसाब से जिसे चाहे सच मान ले। न ऊधो का लेना, न माधो का देना। दोनों खुश रहो।

1 Comments:

At 10:50 AM, Blogger Raviratlami said...

रिलायंस इंडिया मोबाइल के जाल पृष्ठ पर लिखा है कि रिम मोबाइल लेने के बाद उसका इंटरनेट इस्तेमाल करने के लिए कोई खास नंबर डायल कर उसे एक्टिवेट कराना होता है.

वह नंबर डायल करने पर इंगेज टोन आता है.

कंपनी काल सेंटर से बात करने पर पता चलता है कि अक्तूबर 2004 से यह सुविधा प्री-एक्टिवेटेड है! डायल कर एक्टिवेट कराने की जरूरत ही नहीं!

शायद उन्हें इस वेब पेज को भी अद्यतन करने की जरुरत नहीं है!

 

Post a Comment

<< Home