Wednesday, August 27, 2008

अर्जेंट ट्रीटमेंट बहुत ज़रूरी होता है

नवभारत टाइम्स में बिग बॉस की प्रतिबागी जेड गूडी के बारे में खबर छपी है जिसका शीर्षक है - जेड गूडी का अर्जेंट ट्रीटमेंट ज़रूरी था। 'अर्जेंट' था तो 'ज़रूरी' लिखने की भला कौनसी जरूरत आन पड़ी थी मित्रो? कुछ-कुछ वैसी ही बात नहीं हो गई कि मेरे सिर में हैडेक है?

3 Comments:

At 2:56 PM, Blogger पंकज बेंगाणी said...

वैसे urgent का अर्थ हुआ अत्यावश्यक या फिर तुंरत..

तो यह वाक्य ऐसा होगा कि जेड गुडी का तुंरत इलाज जरूरी था.

अब टाइम्स वाले हिन्दी को पुरी लिखते नही तो ऐसी समस्याएँ आती है.

 
At 3:02 PM, Blogger आशीष कुमार 'अंशु' said...

अर्जेंट ट्रीटमेंट का अच्छा ट्रीटमेंट किया, इसे अपने ब्लॉग पर लाकर

 
At 1:12 PM, Blogger prerna said...

Balendu Ji ne sahi shabd ko pakda hai..treatment apneaap mein hi urgent hota hai. to fir usse jaruri kyun sambodhit kia gaya..

 

Post a Comment

<< Home