Saturday, January 17, 2009

क्या शेख हसीना पुरूष हैं!?

ऐसी भी क्या जल्दी है?

अभी बालेन्दु जी ने बताया था कि मीडिया, पुरूष को महिला बना सकता है। यहाँ तो एक महिला प्रधानमंत्री को पुरूष बना दिया गया है, वह भी विरोधी देश का। आप खुद ही देख लीजिए।


इससे पहले की एक पोस्ट में किसी ने टिप्पणी में उलाहना दिया था कि लिंक तो देते। इसलिए इस गलती की लिंक है http://www.deshbandhu.co.in/International.asp?Details=2068

Labels: , ,

3 Comments:

At 10:35 AM, Blogger संजय बेंगाणी said...

है तो हसीना ही, बस मूछें उग आयी है :)

 
At 3:42 PM, Blogger mamta said...

ये है जागृत मीडिया ।

 
At 11:53 AM, Blogger Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

अजी क्या पता, वास्तव में मूंछो वाली हसीना ही हों..........इस कलयुग में कुछ भी संभव है.
आप नाहक ही मीडिया को दोष दे रहे हैं.

 

Post a Comment

<< Home