Monday, August 17, 2009

'जवानों' का ठसका तो देखिए!

भाषा ने मुंबई हमले के अभियुक्त अजमल आमिर कसाब पर मुकदमे की सुनवाई के दौरान अदालत के बाहर की गई जबरदस्त सुरक्षा व्यवस्था की खबर दी है और वहां तैनात 'जवानों' का फोटो भी लगाया है। पता नहीं, ऐसे सुरक्षा बल किस प्रदेश में होते हैं।

3 Comments:

At 7:17 PM, Blogger बी एस पाबला said...

वाकई में बड़ी ठसके वाली खबर है

 
At 9:17 PM, Blogger समयचक्र : महेन्द्र मिश्र said...

वाकई रोचक खबर है .

 
At 9:42 PM, Blogger अविनाश वाचस्पति said...

अखबार का नाम तो बतला देते
हम भी खरीद तक संजो लेते
वैसे अखबार का नाम इस कारनामे के लिए
गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकार्ड में
शामिल करने की मैं जोरदार अनुशंसा करता हूं।

 

Post a Comment

<< Home