Thursday, November 23, 2006

पंजाब केसरी ने फिर पढ़ ली मन की बात

पंजाब केसरी लोगों के मन की बात पढ़ने में माहिर लगता है। जरा राष्ट्रपति डा. एपीजे अब्दुल कलाम और सीबीआई प्रमुख विजय शंकर के इस चित्र का कैप्शन देखिए-

3 Comments:

At 8:45 AM, Blogger प्रभाकर पाण्डेय said...

भगवान बचाए, इन मिडियावालों से ।

 
At 9:48 AM, Blogger Raviratlami said...

"...भगवान बचाए, इन मिडियावालों से ।..."

बालेंदु जी भी खास मीडिया वाले ही हैं... हे हे हे...

 
At 9:59 AM, Blogger संजय बेंगाणी said...

क्या गुढ़ बात रही होगी वह भी अखबार जनहीत में छाप देता. :)

 

Post a Comment

<< Home