Friday, August 31, 2007

दूसरे ही नहीं, गलती हम भी करते हैं

ऐसा नहीं कि गलतियां सिर्फ दूसरों के घरों में ही होती हैं। हम भी गलती करते हैं। यह देखिए, आज ही हमारे पोर्टल प्रभासाक्षी में अंतरराष्ट्रीय खबरों के पेज में एक ही खबर बाकायदा चित्र के साथ दो बार छपी है और वह भी ऊपर नीचे। क्या पता पाठक पहली खबर की अनदेखी कर दें।

5 Comments:

At 5:36 PM, Blogger संजय बेंगाणी said...

बिल्कुल अनदेखी नहीं होनी चाहिए. :)

 
At 9:26 PM, Blogger Debashish said...

Bada accha laga ki aapne khud ko bhi tola. Ye nispakshta bahut zaroori hei. Sadhuvaad!

 
At 9:42 PM, Blogger Vineet Kumar said...

darashal jaankari ke jo dusre madhayam hai samaj par uski pakar dhili hoti jari hai aur sab kuch media kendrit hota ja raha hai,media ka yae rabaiya rato-rat nahi hua hai...hamari lagaam dhili hui,hum passive huyae aur yah apne ko sabse pak saaf batane me lag gaya hai

 
At 11:10 PM, Blogger Sanjeet Tripathi said...

तारीफ़ कि अपनी गलती पर ना केवल नज़र गई बल्कि सामने भी रखा उसे आपने!

 
At 12:55 AM, Blogger xoopia said...

EallTV.Me
EallTV.Me

PeonTV.com
PeonTV.com

Publicshakti.com
Publicshakti.com*9

 

Post a Comment

<< Home