Friday, June 13, 2008

एक हवा-हवाई हैडलाइन

हिंदी इकॉनॉमिक टाइम्स में आज संपादकीय पेज पर अंतरराष्ट्रीय और घरेलू विमानन कंपनियों के बीच चल रही होड़ के बारे में एक लेख छपा है। शीर्षक दिया गया है- हवाई विमान और जमीन पर घमासान। हवाई विमान? अगर विमान लिखा है तो क्या हवाई लिखने की भी जरूरत है? कहीं ऐसा तो नहीं कि नई तकनीक के दौर में विमान जमीन और समुद्र में भी चलने लगे हों इसलिए हवा में उड़ने वाले विमानों के लिए खास तौर पर हवाई शब्द का प्रयोग करना अनिवार्य है ताकि लोग कहीं उन्हें पानी में चलने वाले विमान न समझ लें।


पुनश्चः वैसे लगता यह है कि हैडलाइन देने वाले बंधु ने दोनों लाइनों के बीच कवितात्मक तुक भिड़ाने के लिए हवाई शब्द जोड़ा होगा- हवाई विमान और जमीन पर घमासान। मगर कवितात्मक शीर्षक देने की ऐसी भी कौनसी मजबूरी है कि विमान को विशेष प्रयास करके हवा-हवाई बनाना पड़े?

2 Comments:

At 7:31 PM, Blogger Udan Tashtari said...

:)

 
At 7:32 PM, Blogger Udan Tashtari said...

:)

 

Post a Comment

<< Home