Monday, June 16, 2008

क्या भारत में एक ही शादी-वेबसाइट है?

ताज्जुब की बात है, याहू पर छपे एक लिंक के मुताबिक भारत में वैवाहिक गठबंधन करवाने वाली सिर्फ एक ही साइट है, और वह है -सिम्प्लीमैरी.कॉम। जहां तक मेरी जानकारी है, इस सारे खेल की शुरूआत ही शादी.कॉम ने की। उसके बाद भारतमैट्रीमनी.कॉम और जीवनसाथी.कॉम ने अच्छी-खासी सफलता हासिल की। वैसे भी शादियां कराने के खेल में सिम्प्लीमैरी.कॉम तो बहुत पीछे है। फिर यह भारत की एकमात्र मैट्रीमनी साइट कैसे हो गई? उपरोक्त ही क्यों, आजकल तो शादियां करवाने वाली वेबसाइटों की भीड़ लगी है। मिसाल के तौर पर- सैकंडशादी.कॉम, इंडियनरिश्ते.कॉम, हमारीशादी.कॉम, लाइफपार्टनरइंडिया.कॉम और न जाने क्या क्या..

क्या याहू भी कैलेंडरों और दीवारों पर इश्तिहार लिखने वाले छुटभैये दुकानदारों की तर्ज पर एकमात्र शब्द का प्रयोग करने लगा है? जैसे कि कुछ लोग लिखा करते हैं- दिल्ली में बंगाली मिठाइयों की एकमात्र दुकान, या फिर जयपुर में स्टेशनरी मिलने का एकमात्र स्थान। इतना बड़ा पोर्टल भला ऐसा कैसे लिख सकता है?

2 Comments:

At 1:41 PM, Blogger आशीष कुमार 'अंशु' said...

यदि पढ़्ने वाले विरोध करें,
तो हो सकता है कि लिखने वाले भी सोचे

 
At 9:07 PM, Blogger Kishore said...

Media jagat mein bhi kuchh log to hain hi jinki sonch ka dayara bahut hi chhota hai. Lekin unki bhi kya galti, Boss ko aise hi log pyare hote hain.

 

Post a Comment

<< Home